इश्क़_बीएचयु

यशवंत सिंह

इश्क़_बीएचयु
(60)
पाठक संख्या − 4513
पढ़िए
Ritesh Kumar
बेसिर पैर की कहानी.... और नाहक महामना की बदनामी.... हो सके तो ऐसी कहानियाँ प्रतिबंधित की जाएँ।
अतुल राय
जबर गुरू....क्या इश्क़ है💐💐 वाह....एकदम भीतर घर कर गए आप..
Anil Mehrotra
Kyaa gaali amaryadit shabd Kahani mein dalana jaroor tha...
Kumar Brijesh
apke likhi gayi puri kahani me ek hi khaas baat lgi aur wo hai Adhurapan aur ehsaas mgr kathaanak ka mukhya paatra kuch jyada hi doob gya lgta h ! achchi kahani !
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.