Yogita Garg
प्रकाशित साहित्य
104
पाठक संख्या
6,965
पसंद संख्या
0

परिचय  

प्रतिलिपि के साथ:    

सारांश:

हम दम से गये हमदम के लिए हमदम की कसम हमदम ना मिला अच्छा ना हुआ ये दर्दे जिगर मर हम भी गये मरहम ना मिला


M@n6i "माँगी"

374 फ़ॉलोअर्स

Daisy

781 फ़ॉलोअर्स

Kuldeep Hooda

526 फ़ॉलोअर्स

Adil Hasan

6 फ़ॉलोअर्स

Yogesh Kanava

228 फ़ॉलोअर्स
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.