Uday Veer
प्रकाशित साहित्य
28
पाठक संख्या
9,057
पसंद संख्या
0

परिचय  

प्रतिलिपि के साथ:    

सारांश:

मैं उस परमपिता परमात्मा से कहना चाहता हूँ, कि "हे सम्पूर्ण ब्रह्माण्ड के रचयिता, अभी भी थोड़ा सुकून बाकी है, तेरी बनाई, इस दुनिया में"


जुनैद वोहरा "Nodu"

1,381 फ़ॉलोअर्स

भरत ठाकुर "ठाकुर"

1,513 फ़ॉलोअर्स

sushma gupta

1,275 फ़ॉलोअर्स

avneesh mishra

2 फ़ॉलोअर्स

Rashmi Kamalvanshi

19 फ़ॉलोअर्स

Shree Gaurkhede

0 फ़ॉलोअर्स
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.