SURYA RAWAT
प्रकाशित साहित्य
114
पाठक संख्या
122,745
पसंद संख्या
0

परिचय  

प्रतिलिपि के साथ:    

सारांश:

अभिनेता - कवि - लेखक... मैं चिंतित सिर्फ इसलिए हूँ , मेरे मरने के बाद कौन है..जो लिखेगा ? 🔴मैं वो लिखता हूँ... जिसे लिखने के लिए फौलादी कलेजा चाहिए मैं चाहता हूँ.... पढ़ने वाले का कलेजा भी फौलादी हो ।🙏 ●मूल निवास :- टिहरी गढ़वाल ( उत्तरांचल ) शिक्षा ग्रेजुएशन अंग्रेज़ी देहरादून मुंबई फिल्म उद्योग ● मैं न किसी धर्म का समर्थक हूँ , न किसी धर्म का विरोधी । सर्वे भवंतु सुखिनः विश्व का कल्याण हो । १•मैं क्रूर और उग्र आलोचना से भरा दिखता हूँ, किंतु ह्रदय कोमल है । आप मुझे पढ़ने के पश्चात कभी भी निराश नहीं होंगे , इसकी मैं प्रत्याभूति देता हूँ । 🙏🔴 अन्यथा मैं लिखना ही छोड़ दूंगा । वासनायुक्त शब्दावली भी है.... जिसमें प्रेम भी बहेगा । हो सकता है , आपको दुःख से भी गुज़रना पड़े । मैंने समाज के सभी भावों अनुभवों को मिश्रित करके पलस्तर तैयार किया है ...... जिससे मैंने कहानी और कविताओं की दीवारें खड़ी की हैं । जिसकी बुनियाद आप सभी पाठक हैं । 🙏 २• मैं समाज की किसी भी बुराई को नहीं बढ़ाना चाहता, मेरा उद्देश्य मात्र लिखना है । आप मेरे लेखन की आलोचना कर सकते हैं , किंतु यह भी देखें कि , मैंने लिखा तभी है जब कुछ घटित हुआ है । ३•सभी कविताओं/कहानियों एवं लेख\उपन्यास के अधिकार मेरे पास सुरक्षित हैं । मेरे बिना अनुमति के फिल्म में संवाद जोड़ना य नकल कर के काट-छाँट - कर निज उपयोग करना , आपको मुसीबत की गोद में बिठा सकता है । छोटी सी नकल आपको शर्मिंदगी का शिकार बना देगी । मैं बहुत लोगों को नकल करने के जुर्म में नकलचियों को घसीट चुका हूँ । किसी में लेशमात्र भी शर्म होगी , तो वो दूसरे की रचना नहीं चुरायेगा/चुरायेगी । ४• मेरे ह्रदय में प्रेम ही प्रेम है , कौन है जो उसका लाभ उठाना चाहता है , आइए सहर्ष स्वीकार है । ५• मैं निज जीवन में अपशब्दों का प्रयोग नहीं करता , किंतु लेखन के समय मेरी मृत्यु हो जाती है । तब मैं वो नहीं रहता जिसे आप देखते हैं.... मैं खुलेआम लिखता हूँ , सच लिखता हूँ । जो कल्पनाओं के माध्यम से उमड़ पड़ता है । ६• प्रतिलिपि पर आइए , आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा । मन को अस्त व्यस्त करने वाली चीज़ों से आप दूर हो जाएंगे । UDANN ☆JIJImaa ☆CRIME PATROL ☆SAVDHAN INDIA ☆ NAAMKRAN ☆CGM ☆KRISHNA ☆PORAS ☆NAVRANGI RE.....Etc. 《[》 २० धारावाहिक एवं तीन फिल्में की हैं । १७० कविताएँ एवं १०० कहानियों का संग्रह है । और तीन उपन्यास । 《]》 ●Note :- ☞....यदि आप सोचते हैं... Surya Rawat बहुत अच्छा लेखक है.. तो आप सही सोचते हैं । यदि आप सोचते हैं...Surya Rawat बहुत घटिया किस्म का लेखक है... तब भी आप सही सोचते होंगे । First read me .... then follow..... यदि पसंद न आए तो लिखना छोड़ देंगे । और बगैर पढ़े प्रशंसा न करें.... आलोचना भले ही कर लें । मुझे पढ़ने के लिए न पढ़ें प्रत्युक्त समझने के लिए पढ़ें । 🙏 जय हिंद .... जय भारत 🇮🇳 जय उत्तरांचल 🙏 ●Instagram☞ Surya.rawat3101 ☆Facebook☜ Surya Rawat ●Twitter ☞@SuryaRa78644716 Please Don't take screen shots 😊🙏🙏🙏 please------ please


aparna

379 फ़ॉलोअर्स

Sudhanshu Mishra

1 फ़ॉलोअर्स

Chandrakant Dalbanjan

0 फ़ॉलोअर्स

Ramkishor Suthar

5 फ़ॉलोअर्स

Jyoti Vish

0 फ़ॉलोअर्स
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.