Sunil Gupta
प्रकाशित साहित्य
-1
पाठक संख्या
53,953
पसंद संख्या
0

परिचय  

प्रतिलिपि के साथ:    

सारांश:

न मैं कोई लेखक हु न कहानीकार लेकिन शौक़ और कल्पना के घोड़े दौड़ाते हुए मन के भावों को एक सूत्र में पिरो देता हूं ।क्योंकि मेरा मानना है अपने किसी भी शौक को मरने न दे पता नही कब कौन सा शौक परवान चढ़ जाए ।


अनिल शेखर "अमस"

1,210 फ़ॉलोअर्स

Margret Sabastin

4 फ़ॉलोअर्स

Neena Chetal

0 फ़ॉलोअर्स

Reeta Singh

5 फ़ॉलोअर्स
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.