Sagar
प्रकाशित साहित्य
36
पाठक संख्या
30,433
पसंद संख्या
0

परिचय  

प्रतिलिपि के साथ:    

सारांश:

मैं एक ऑटो मैकेनिक हूँ.., ज्यादा पढ़ा लिखा नहीं हूँ..., पर जिन्दगी ने इतना कुछ सिखा दिया है... कि जितना हम स्कूल और कॉलेज में भी नहीं सीख पाते..., बस जिन्दगी ने जो भी दिया... वो ख़ुशी ख़ुशी मैनें ले लिया..... !


Rekha Goel

4 फ़ॉलोअर्स

Chanchal Kumar

10 फ़ॉलोअर्स

Prem Sharma "Prem"

169 फ़ॉलोअर्स

Chanchal Kumar

10 फ़ॉलोअर्स

Jitendra Agrawal

1 फ़ॉलोअर्स

Rekha Goel

4 फ़ॉलोअर्स
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.