Parmanand
प्रकाशित साहित्य
0
पाठक संख्या
0
पसंद संख्या
0

हम माफ़ी चाहते है, इस रचनाकार के अकाउंट में अभी तक कोई प्रकाशन कार्य नहीं हुआ है |
हम माफ़ी चाहते है, इस रचनाकार के अकाउंट में अभी तक कोई प्रकाशन कार्य नहीं हुआ है |
परिचय  

प्रतिलिपि के साथ:    

सारांश:

मैंने आपकी कहानी के अब तक के पाँच भाग पढ़े हैं। आप श्रेष्ठ कलमकार हैं। खासकर मुझे तब बहुत अच्छा लगता है जब एक लेखक या लेखिका हिन्दी भाषा का प्रयोग करते समय शुद्धि-अशुद्धि तथा उचित विराम चिह्नों का प्रयोग करता/करती है। आपने बखूबी इस बात का ध्यान भी रखा है। आपकी कहानी कथानक के अनुसार चल रही है जो पाठक/पाठिका को बाँधने में सक्षम है। धन्यवाद। ✍️ परमानन्द


Asmi Srivastava

132 फ़ॉलोअर्स

Anuradha Chauhan

2,145 फ़ॉलोअर्स

Harshita Singh

1,240 फ़ॉलोअर्स
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.