Hari Krishan Pandey
प्रकाशित साहित्य
48
पाठक संख्या
582
पसंद संख्या
0

परिचय  

प्रतिलिपि के साथ:    

सारांश:

सन, १९६३ मे स्वस्थ्य मंत्रालय के अंन्तरगत कार्य करते ही आकाशवाणी के (नाटक विभाग ) की स्वर परीक्षा पास की ,कार्यक्रमों के प्रसारण के समय होने वाली गतिविधियों से लेखन की रूचि जाग्रत हूई।बस शुरू होगये। तब से अब तक विभिन्न समाचार पत्र‌ ,पत्रिकाओं में लेखन जारी है।उन में ही कुछ कविताएं यहां प्रस्तुत हैं।प्रस्तुत कविताओं में रही त्रूटियो के लिये विद्वानों ,विचारकों,एवं वरिष्ठ लेखकों से सदैव क्षमा प्रार्थी:


प्रतीक प्रभाकर

1,057 फ़ॉलोअर्स

जनमेजय "jj k kisse"

211 फ़ॉलोअर्स

Aakash Gautam

3 फ़ॉलोअर्स

pavan patidar

194 फ़ॉलोअर्स

Rajan Tiwari

32 फ़ॉलोअर्स

Roli Srivastava

46 फ़ॉलोअर्स
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.