Dev Tiwari
प्रकाशित साहित्य
0
पाठक संख्या
96
पसंद संख्या
0

परिचय  

प्रतिलिपि के साथ:    

सारांश:

ज़िन्दगी एक बार मिलती है खुल कर जियो, मैं खुद दिव्यांग (dafe) हूँ , लेकिन जो शरीर से स्वस्थ होते हुवे भी सोच से विकलांग है उनसे बेहतर हूँ , कहानियों लिखना पढ़ना पसंद है, एवं ज़िन्दगी के उलझनों को सुलझाते हुवे वयस्त रहना भी पसंद है ।


Akash Tiwari

222 फ़ॉलोअर्स

Aakash Deep

412 फ़ॉलोअर्स

सोना

108 फ़ॉलोअर्स

Saurabh Bhargava "सायर"

96 फ़ॉलोअर्स

Avni Kaushik

114 फ़ॉलोअर्स

Vibhanshu Agarwal

8 फ़ॉलोअर्स
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.