सुनीता माहेश्वरी
प्रकाशित साहित्य
28
पाठक संख्या
69,664
पसंद संख्या
1,441

परिचय  

प्रतिलिपि के साथ:    

सारांश:

सुनीता माहेश्वरी का जन्म अलीगढ़ में एक संभ्रांत परिवार में हुआ। इनकी माता श्रीमती चंद्रवती केला तथा पिता श्री राम स्वरूप केला अत्यंत धार्मिक प्रवृत्ति के थे |संस्कारों से सजे वातावरण में इनका पालन पोषण हुआ | इन्होंने एम. ए.(संस्कृत,हिंदी) तथा एम. एड. किया। इसके बाद इन्होंने निर्मला कॉन्वेंट स्कूल रेनुकूट तथा दी आदित्य बिड़ला पब्लिक स्कूल रेनुकूट में शिक्षण कार्य किया। संप्रति अवकाश प्राप्त कर हिंदी लेखन कर रही हैं। समाज की समस्याओं के प्रति सजग लेखिका श्रीमती सुनीता माहेश्वरी कवयित्री होने के साथ कथाकार भी हैं। इनका "अर्पण" नमक काव्यसंग्रह प्रकाशित हो चुका है।"बाबुल हम तोरे अंगना की चिड़िया" नामक काव्य संग्रह में भी इनकी कुछ कविताएं प्रकाशित हुई हैं।"अर्पण" ई बुक के रूप में ई बुक्स स्टोरीमिरर .कॉम पर उपलब्ध है | स्टोरी मिरर. कॉम , प्रतिलिपि.कॉम तथा पत्र, पत्रिकाओं में इनकी रचनाएं प्रकाशित होती रहती हैं। आकाशवाणी नाशिक से इनकी कहानियों तथा कविताओं का प्रसारण होता रहता है |


खुशबू जैन "आरोही"

350 फ़ॉलोअर्स

सुनील गज्जाणी

26 फ़ॉलोअर्स

kapil Tiwari benaam

744 फ़ॉलोअर्स

Suresh Chand

0 फ़ॉलोअर्स

Aakash Deep

395 फ़ॉलोअर्स
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.