रागिनी गर्ग
प्रकाशित साहित्य
18
पाठक संख्या
5,281
पसंद संख्या
0

परिचय  

प्रतिलिपि के साथ:    

सारांश:

एक साधारण स्त्री हूँ। ना कवि ,ना लेखक ना कलमकार, ना कहानीकार बस दिल की कलम से शब्द लिख लेती हूँ दो चार। रिश्तों की मिठास भरी है जिंदगी में ।खुद का परिचय खुद से क्या दूँ। बात तो तब होगी जब दूसरों के मुँह से अपना परिचय जाँनू ।*अपना परिचय अगर खुद देना पड़े, तो समझ लीजिये कि सफलता अभी दूर है !!*


विकास कुमार

1,900 फ़ॉलोअर्स

विनोद कुमार दवे

822 फ़ॉलोअर्स

Bablu Kumar Yadav

363 फ़ॉलोअर्स
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.