मौमिता बागची
प्रकाशित साहित्य
65
पाठक संख्या
55,378
पसंद संख्या
0

परिचय  

प्रतिलिपि के साथ:    

सारांश:

अब अपने बारे में क्या कहूं? चाहो तो ढूंढ लेना मुझे मेरे ही शब्दों के बीच!जैसा देखती हूं वैसा लिखने की कोशिश करती हूं। शब्दों के मध्य अपनी अस्मिता तलाश रही हूं---


ऋषभ शर्मा

91 फ़ॉलोअर्स

Asha Shukla ""Asha""

9,169 फ़ॉलोअर्स

neetika pathak

2 फ़ॉलोअर्स

ρυиєєт яαωαт

15 फ़ॉलोअर्स

Sharda Rawat

7 फ़ॉलोअर्स
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.