माही मिश्रा
प्रकाशित साहित्य
11
पाठक संख्या
2,965
पसंद संख्या
0

परिचय  

प्रतिलिपि के साथ:    

सारांश:

मैं माही...माही मिश्रा.. जी हां सही पढ़ा मिश्रा फैमिली, जहाँ छोटा से छोटा काम के लिए भी मुहरत निकलनी पड़ती है। शहर सीधी (MP) से हूं तो ज्यादा एटीट्यूड नही है। यहां के "पोहे" की तरह सिंपल और सबकी फेवरेट हूं।।।चूँकि मैं बचपन से इंग्लिश मीडियम स्कूल में पढ़ी इसलिए हिन्दी में सही पकड़ नही बना पाई।। अगर मेरी कविता में कोई गलती हो तो मुझे माफ़ करियेगा।।।।। . छोटे से शहर में रहने वाली लड़की,, जिसके अरमान बहुत बड़े है।।इश दुनिया में ना जाने कितने शायर ,कवि हैं।। उनके बीच कही खोई हुई मैं ,एक गुमनाम शायर।। वैसे तो मैं बहुत छोटी शायर हूँ, पर ना जाने क्यों ,अपने जज़्बातों को कलम के ही माध्यम से बया करती हूँ।।।।। वैसे तो मेरा कोई अपना वजूद नही है,,पर फिर भी खुद की है तलाश में भटक रही हूँ।।मैं ना तो कोई मॉडल हूँ ,ना कोई फिल्म स्टार और ना ही बनना चाहती हूँ ,मैं एक सिंगल सिम्पल लड़की हूँ।। जिसे दुनिया में सबसे ज्यादा प्यार और दुलार अपने माँ पापा से मिला।।और शायद यही से मेरी जिंदगी शुरू हुईं और खुदा से एक ही ख्वाइश हैं की खुदा उनकी रहमत से यही माँ पापा के प्यार के साथ मेरी जिंदगी भी खत्म हो।। Hobby: singing, writing..painting,, birth of date 27 oct 1999


(CA/CS finalist)Sandeep Gupta

157 फ़ॉलोअर्स

Rittika Saxena "Bossy"

236 फ़ॉलोअर्स

एमडी

1,194 फ़ॉलोअर्स

Ritik Singh

21 फ़ॉलोअर्स

vikram choudhary

0 फ़ॉलोअर्स

Abhishek Jha

6 फ़ॉलोअर्स
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.