कविता जयन्त श्रीवास्तव
प्रकाशित साहित्य
55
पाठक संख्या
144,248
पसंद संख्या
0

परिचय  

प्रतिलिपि के साथ:    

सारांश:

लेखन मेरा जीवन है अंतर्द्वंद हो या प्रत्यक्षीकरण..जो महसूस करती हूं ,वही लेखनी के माध्यम से उतार देती हूं..! पेशे से शिक्षिका हूं..शिक्षा -दो विषयों से (प्राचीन इतिहास व शिक्षाशास्त्र से परास्नातक व इतिहास विषय मे शोधरत..! मैं पाठक व लेखक दोनो रूप जीती हूं..! और कोशिश करती हूं अपनी कहानियों में आम इंसान के जीवन की उधेड़बुन को सजीव रूप में प्रस्तुत कर सकूं..! प्रतिलिपी पर "मैं तुझसे प्यार नही करती", "रूहानी मोहब्बत" ," एक्स गर्लफ्रैंड" "नियति" "आखिरी रक्षाबन्धन" जैसी कहानियों के माध्यम से पहचान बनी है ,कोशिश करूँगी कि, पाठकों को और भी अच्छी कहानियों के तोहफे दे पाऊं।


मनमोहन भाटिया

2,550 फ़ॉलोअर्स

रश्मि सिन्हा

66 फ़ॉलोअर्स

अभिलाष दत्ता

1,163 फ़ॉलोअर्स

Prakash Sharma

36 फ़ॉलोअर्स

Kuleshwar ojha

3 फ़ॉलोअर्स

Axat Malik

2 फ़ॉलोअर्स
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.