इरा टाक
प्रकाशित साहित्य
10
पाठक संख्या
171,160
पसंद संख्या
11,259

परिचय  

प्रतिलिपि के साथ:    

स्थान:     मुंबई

सारांश:

बीकानेर में जन्मी इरा टाक बीएससी ,ऍम ए (इतिहास ),और मास कम्युनिकेशन में स्नातकोतर डिप्लोमा हासिल किये हुए हैं ।  लेखिका ने अपना करियर टीवी पत्रकार के रूप में शुरू किया था ,पर उनका मन तो रंगो और शब्दों में रमा हुआ था,चित्रकारी में वो देशविदेश में नाम कमा रहीं हैं । चित्रकारी,कविता और लेखन में वो समान रूप से दखल और महारत रखती हैं ,उन्हें केवल चित्रकार या केवल लेखक कहना उनके  साथ अन्याय होगा।फोटोग्राफी की शौक़ीन हैं, उनके खीचें कई चित्र पत्र पत्रिकाओं में भी छप चुके हैं ।फेसबुक जैसे सोशल  मीडिया पर  उनकी फैन फोल्लोविंग 12,000  से ऊपर है,उनकी कविताओं की दो किताबें "अनछुआ ख्वाब" 2012 और "मेरे प्रिय" (बोधि प्रकाशन २०१४) में  आ चुकी हैं, जो खासी चर्चित रहीं और जिनकी कई प्रतियां बिकी । 2017में उनका पहला कहानी संग्रह "रात पहेली" विश्व पुस्तक मेले में लोकार्पित हुआ है. संग्रह ऑनलाइन बिक्री केलिए अमेज़न और फ्लिप्कार्ट पर उपलब्ध है. डेलीहंट पर ई बुक के रूप में भी डाउनलोड कर पढ़ा जा सकता है. इरा का पहला उपन्यास "रिस्क @इश्क " सबसे बड़े ऑनलाइन पब्लिकेशन juggernaut books से २०१७ में आया है. इसको juggernaut app गूगल प्ले स्टोर पर डाउनलोड कर के पढ़ा जा सकता है . इरा अपनी ही कहानियों पर तीन शोर्ट फिल्म्स भी बना चुकी हैं. अब तक वो 400 से ज़्यादा कवितायेँ और २० कहानियां लिख चुकी हैं,पत्र पत्रिकाओं में छपने के साथ साथ ,वो अपनी कई कवितायेँ/ कहानियां दूरदर्शन आकाशवाणी और काव्य गोष्ठियों में भी बोल चुकी हैं। उनकी कई कहानियां भी समाचार पत्रों और पत्रिकाओं में प्रकाशित और आकाशवाणी पर प्रसारित होती रही हैं । लेखिका बहुमुखी प्रतिभा की धनी हैं,उनकी कहानियां और काव्य की भाषा बेहद सरस और सरल है ,जिनसे पाठक और श्रोता एकदम जुड़ जाता है । चित्रकार के रूप में २०११ में एक अमेरिकन वेबसाइट यूटोपियन ने "आर्टिस्ट  ऑफ़ द ईयर" का अवार्ड दिया  २०१२ में राजस्थान उन्हें वीमेन एक्सीलेंस अवार्ड दिया गया २०१३ में राजस्थान  में उन्हें   बालिका रतन अवार्ड से सम्मानित किया गया . २०१३-१४ में उनका आर्ट वर्क "बॉन्डिंग" ललित कला अकादमी दुआरा राष्ट्रीय कला प्रदर्शनी के लिए चयनित हुआ,Rajasthan से केवल ३ चयन हुए 2015 में  राजस्थान की 100 सफल महिला का सम्मान मिला 2017में उन्हें कला और शोर्ट फिल्म्स के लिए स्पंदन सोशल अवार्ड से नवाजा गया. लेखन और चित्रकला के साथ साथ सामाजिक कार्यों में उनका सक्रिय योगदान रहता है उनके आर्ट वर्क अमेरिका,फ्रांस,बेल्जियम,लंदन ,स्पेन जैसे कई देशों में बिक रहे हैं,साथ ही साथ कई किताबो को उनके कवर प्रदान किये हैं ।


var

0 फ़ॉलोअर्स

Venus Mehta

0 फ़ॉलोअर्स

प्रांजल राय

0 फ़ॉलोअर्स
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.