NH 8 की वो रात

Jeetu J sharma

NH 8 की वो रात
(259)
पाठक संख्या − 8735
पढ़िए

सारांश

एक काल्पनिक कहानी।
परमात्मा राय
तर्क की कसौटी पर चढ़ाना अगर छोड़ दें तो यह कहानी मनोरंजक है। कहानीकार का पहला प्रयास सार्थक है।
रिप्लाय
Vikram Shahi
I liked it. Great story.
Vandana Baranwal
Interesting story I like it 👌👌👌
आकाश इफेक्ट
प्रथम प्रयास अच्छा रहा आपका इसे जारी रखें।अंत में डिस्क्लेमर देने की कोई आवश्यकता नही। 'प्रतिलिपि' पर रचनाकार एवं पाठक दोनो ही उच्च श्रेणी के होते हैं।
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.