? जीवन सरल है ?

गोपाल यादव

? जीवन सरल है ?
(52)
पाठक संख्या − 315
पढ़िए

सारांश

एक बार अवश्य पढ़ें आपका पढ़ना सार्थक होगा और आपकीं समीक्षा मेरे कविता रूपी मूरत के लिए छैनी का काम करेगी।।।????
Ruchi Gopal
well written.very gud lines
रिप्लाय
रघुराज सिंह
अतिउत्तम रचना बहुत अच्छा लिखा है ऐसे ही लिखते रहे आपकी अगली रचना का इंतजार रहेगा बधाई हो 👍👌🙏🌺
रिप्लाय
sushma gupta
👏👏👏👏बहुत सुन्दर 👌👌👌👌👌ओज भरी प्रेरक रचना💐
रिप्लाय
Sudhir Kumar Sharma
अद्भुत
रिप्लाय
Indira Kumari
सही कहा बढियां
रिप्लाय
Saroj Singh
बहुत सुंदर
रिप्लाय
राजेन्द्र बहादुर सिंह
बहुत अच्छा
रिप्लाय
रौशनी शर्मा
wahh!! saare lines Joshpurn the. . but last 2 lines. .gazabbb. .👏👏
रिप्लाय
sapna sharma
bahut khub so motivational plz kash meri aankhe fut jati par samiksha aur reating de thanks
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.