हौसलेबाज़

अजितेश आर्य

हौसलेबाज़
(34)
पाठक संख्या − 942
पढ़िए

सारांश

बेरोजगारी के समय में नवयुवाओं को , हौसले की उड़ान का आज के परिप्रेक्ष्य में अर्थ समझाती ,और आगे बढ़ने की प्रेरणा देती कहानी।
Nimisha Verma
बहुत अच्छी कहानी
Suryakant Shukla
खुबसूरत कहानी
Deepak Rathor
अति सुंदर कहानी है भाई।
Ajay Gupta
गिरते हैं शस्वार मैदाने जंग में वो तिकहम क्या गिरे जो घुटनो के बल चले
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.