हौसला कुछ इस कदर

samay sanon

हौसला कुछ इस कदर
(4)
पाठक संख्या − 212
पढ़िए

सारांश

हमारी कोई मदद करे ना करे हमारे सपने लिए हमें खुद ही खुद की मदद करनी होगी। बस हमें इतना पता होना चाहिए कि जब जब किसीने कुछ बड़ा करने की ठानी है तब तब लोगों ने उससे पर आवाज उठाने की मानी है।
सौ.प्रतिभा परांजपे
इस कहानी से किन्नरो को भी सीख लेनी चाहिए कहानी शि क्षाप्रद है
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.