हृदय दान

अजय अमिताभ सुमन

हृदय दान
(27)
पाठक संख्या − 87
पढ़िए

सारांश

ये हृदय दान पे हल्के फुल्के अंदाज में लिखी गयी हास्य कविता जहाँ पे एक कायर व्यक्ति हृदय दान करने से डरता है और इसका बड़ा हास्यास्पद कारण देता है।
Shaline Gupta
best👍👍👌👌💐💐😊😊
Gotu
वा जी वा क्या शानदार लिखा है
Keshav Chandra Joshi
सुंदर...
रिप्लाय
डॉ. प्रवीण पंकज
उत्तमोत्तम लेखनी।
रिप्लाय
Savita Ratiwal
सटीक व्यंग्य
रिप्लाय
Vimal sid
वाह वाह बहुत खूब
रिप्लाय
योगेश
sahi kaha aapne
रिप्लाय
श्याम निर्मोही
बहुत खूब....👌👌👌
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.