हास्य व्यंग्य

दुर्गा प्रसाद

हास्य व्यंग्य
(54)
पाठक संख्या − 1148
पढ़िए

सारांश

एक गरीब आदमी ने अपने बेटे को पढा़ने के लिए एक अच्छे स्कूल का चयन किया । यह जानते हुए भी कि बेटे की फीस के लिए बहुत मेहनत करनी पडे़गी।           बच्चा पढने में ठीक  था । परन्तु पैसा बहुत ...
ಮೌನ
super daadaji
रिप्लाय
Manoj Kumar
अच्छा भाव दिया है आपने, बहुत खूबसूरत तरीके से प्रहार किया है🙂💐👏👏
रिप्लाय
गजेन्द्र भट्ट
हहा हा हा हा... सहज हास्य, चुटीला व्यंग्य!
रिप्लाय
brajmohan pandey
अच्छे व्यंग्य रचना के लिए बधाई।मैंने भी कुछ हास्य व्यंग्य तथा अन्य रचननायें प्रकाशित की है।एकवार पढने का कष्ट करें।धन्यवाद।
रिप्लाय
परमार प्रकाश
बेहतरीन हास्य व्यंग्य
रिप्लाय
Sayyeda Khatoon
😅😅😅😅😅😅👌
रिप्लाय
Priti Sharma
लगी तो अधूरी सी थी,पर चूंकि हास्य-व्यंग्य थातो अन्तिम लाइन काम कर गयी, मुस्कराहट आगयी। कृपया मार्गदर्शन करते रहिए,।प्रशन्सा उत्साह बढ़ाती है तो आलोचना-समालोचना त्रुटि सुधार कर रचना में निखार लातीं हैं।
रिप्लाय
Anuradha Chauhan
वाह बहुत बढ़िया
रिप्लाय
Antim Kumar
mast hai,😁😁😁😁😁😁
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.