हाय

आकाश इफेक्ट

हाय
(110)
पाठक संख्या − 12270
पढ़िए

सारांश

"शिवानी मैं तुमसे आखिरी बार कह रहा हूँ, भूल जाओ उस लड़के को और धीरज से शादी कर लो। वो सही नही है तुम्हारे लिए। देखना एक दिन वो तुम्हे छोड़ के चला जायेगा"। रामदास ने गुस्से से अपनी इकलौती बेटी शिवानी से ...
Mini Sharma
maa baap kbhi esi baddua nhi dete ki unki beti vidhwa ho jae, koi sense hi nhi h story me
रिप्लाय
Sunita Namdeo
sad story
रिप्लाय
Jugraj Dhamija JD
salute राहुल जिसने शादी करके लड़की के बाप से भीख नही मांग के लड़की के बाप को गलत साबित किया , बाकी खुदकुशी कभी किसी मसले का कभी हल नही।
मोनिका
Heart touching story.. 👌👌
रिप्लाय
Vindu Upadhyay
so sad
रिप्लाय
शिक्षा Singhmar
sir ye toh life hai kya pta ager wo apne papa ki bt maan leti aur ye sb fir bhi ho jata uski life m toh jauri nhi ki bache aur parents har jgh sahi ho...life hai kuch bhi kbhi bhi kisi ke sth bhi ho skta hai..ise acha toh ye hai ki apne bacho ka sth de aur unki khusi bhi dkehe..rhna toh unhe hai life time tk..kahni achi thi pr mujhe end m acha nhi lga..
रिप्लाय
Sunand Sharma
Nice, read my stories, thanks
दिनेश प्रजापति
बेहतरीन रचना
रिप्लाय
Hema Ingle
बहुत खूब लिखा है , मार्मिक....
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.