हाफ हनीमून

मनोज देशमुख "मासूम "

हाफ हनीमून
(119)
पाठक संख्या − 15845
पढ़िए

सारांश

कल मेरी शादी है। घर में सभी लोग शादी की तैयारी में व्यस्त है।मेरे घर में पुरे एक दर्जन लोग, बोले तो भरी पूरी फेमिली है । दादा-दादी = घर में इनका हुकुम चलता है। चाचा = कंपनी में कार्यरत है। चाची = ...
Akesh Akesh
आप सेक्यूलर लोग हमेशा शंकर जी के दूध पे क्यो नजरे किये रहते है क्या आपकी हैसियत एक लोटा दूध की ही थी जो बच्चे को पिला के खत्म हो गया 100 ग्राम शंकर जी पे भी चड़वा देते फिर भले ही 10 लीटर बांटते
राजेश सिन्हा
मजेदार कहानी। पढ़ कर मुस्कान आ गयी।
sakshi Jain
very nice story
रिप्लाय
Dev Tiwari
बहुत सुंदर रचना 👌👌👍
रिप्लाय
Gaurav Kumar
मस्त
रिप्लाय
Hari Agarwal
Nice
रिप्लाय
Shraddha Verma
interesting...
रिप्लाय
JS Naphrary
So sad vary bad
रिप्लाय
arun singh
part 2 to banta hai
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.