हवेली वाली अम्माँ भाग -1

Supriya Singh

हवेली वाली अम्माँ भाग -1
(70)
पाठक संख्या − 12933
पढ़िए

सारांश

माँ आज भी उसने मुझ पर हाथ उठाया ,मैं थक गई हूँ अब नहीं सह सकती ,मेरी हर छोटी बड़ी गल्ती पर ये पूरे परिवार के सामने बेज्जती करने लगते हैं मैं भी इंसान हूँ । मेरी कोई हैसियत ही नहीं है वो रो पड़ी बोलते- ...
radha
iska 3rd part to hai hi nahi mam wo kab release hoga
रिप्लाय
Kiran Singh
बेहतरीन कहानी
Sk Siddiqui Siddiqui
very nice2
रिप्लाय
Reeta Maurya
last part ka intzaar h
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.