हयात शहर और एक नज़्म लड़की

डॉ सापेक्ष गौतम

हयात शहर और एक नज़्म लड़की
(92)
पाठक संख्या − 3633
पढ़िए
Ashok Sahil
गौतम जी ऐसा लगता है जैसे ये एक सत्य कहानी हो।सच में पढ़ कर दिल अंदर तक हिल गया है।बहुत ही नायाब कहानी थी।धन्यावद सहित।अशोक गौतम,Delhi
Hashim Khan✔️
निःशब्द, अति सुंदर रचना। सापेक्ष जी आप भी मेरी कहानी 'एकतरफा इश्क़' पढ़िए उम्मीद है पसंद आएगी। आपकी समीक्षा का इंतज़ार है। धन्यवाद।
Atul Verma
aisa laga jese koi sacchayi bayan kr rha ho😔
रिप्लाय
Amit Agarwal
nice one
रिप्लाय
sauravi verma
achi story
रिप्लाय
Manisha Rathour
touched... ek din yun hi chle jayenge magar hm kisi ki nazm nhi...
रिप्लाय
Raj Vishwakarma
bhai rula diya tumne
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.