हमारी अधूरी कहानी…

उपेन्द्र यादव

हमारी अधूरी कहानी…
(406)
पाठक संख्या − 22400
पढ़िए

सारांश

सामाजिक मान्यताओं और धार्मिक अलगाव के चलते दो प्रेम करने वालों के कभी न मिल पाने की अधूरी प्रेम कहानी ।
Sagar
heart touching story
रिप्लाय
Ayushi Singh
बेहद दुखद है...... न जाने कितने लोग धर्म और जाति के नाम पर बलि चढ़ जाते हैं...... न जाने कितने लोगों की प्रेम कहानियां सिर्फ धर्म और जाति के कारण ही अधूरी रह जाती हैं, कहानी का अंत बहुत अच्छा था कि लड़की ने अपने घर वालों की इच्छाओं को सर्वोपरि रखा और जब हार गई तब मौत को अपना लिया पर उनकी मर्जी के खिलाफ नही गई पर माता पिता को भी अपना फर्ज़ निभाना चाहिए था।
रिप्लाय
Satpal. Singh Jatyan
panch ke Baad agar aur star hotel to wo bhi aapki es kahani Ko details dear.Bshut piyari aur tragic h.Likhne ka dhng ekdm unique.mubarbaad kbool kro jaaaani
रिप्लाय
kapil
true love story great
रिप्लाय
Rahul Tiwari
bhai Mazaa as gaya par lagata hai fiction hai
रिप्लाय
pooja sharma
amazing
रिप्लाय
shikha tyagi
heart touching
रिप्लाय
neha Virvani
शानदार पृस्तूति
रिप्लाय
Adda Madhuri
kahani bohut aachi thi
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.