स्वच्छता अभियान

विनीत शर्मा

स्वच्छता अभियान
(42)
पाठक संख्या − 330
पढ़िए

सारांश

सोच और स्वच्छ अभियान।
प्रदीप तिवारी
तीखा चोट करती ,कम शब्दों में बहुत कुछ कहती अच्छी कहानी
रिप्लाय
और्व विशाल
सटीक व्यंग्य
रिप्लाय
पूजा
सत्य उजागर करती रचना...पर नेता ही क्यों मैंने गाड़ियों में बैठे अनेकों लोगों को देखा है जो फेस बुक पर स्वच्छता अभियान में भाग लेते हुए अपनी तस्वीर लगाएँगे और असलियत में सामने रखे कूड़ेदान को नजरन्दाज कर देंगे ...गाड़ी से उतरने का कष्ट कौन करे।और फाइन भरना होगा उस बेचारे ठेले वाले को जो दो वक्त की रोटी के लिए पूरा दिन तपता है...।बहुत सरलता से आपकी रचना ने सब कह दिया.. बहुत खूब
रिप्लाय
Dippriya Mishra
कटु किन्तु सत्य
रिप्लाय
Aditi Tandon
सत्य प्रस्तुत करती हुई सार्थक रचना 👌👌👌👌👌
Dr. Santosh Chahar
सशक्त सार्थक। अच्छा कटाक्ष है।
रिप्लाय
Batul Raja
bahot achi rachna hai... aaj ke zamane ki sachchai
रिप्लाय
Nita Shukla Dubey
👌👌👌
रिप्लाय
सोनाली शर्मा
very nice👏👏👏👏👍👍👍
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.