स्त्री

डॉ. इला अग्रवाल

स्त्री
(517)
पाठक संख्या − 44218
पढ़िए

सारांश

A MUST READ TRUTH OF FEMALES,MALES N OUR SOCIETY.
Suresh Shukla
अच्छी लगी
Aashu Jain
Wonderful 👌
रिप्लाय
Agricos Priya Sawant
Awesome
रिप्लाय
Poornima Nishu
जीवन की सच्चाई
रिप्लाय
Jayanta Naik
kya khub likhe Bhai saab
रिप्लाय
Deepshikha Pandit
Such a nice creation.....
रिप्लाय
डॉ. अनुविद्या
बेहतरीन रचना,निशब्द,,,,👍👍
रिप्लाय
Pushpita Jain
अद्भुत, अप्रतिम कहानी स्त्री घमासान जो शायद सब स्त्री भी नहीं जानती।कई पंक्तियाँ निःशब्द कर गईं मुझे।एक पंक्ति" जिन्दा स्त्री को अफॉर्ड नहीं कर सकता हमारे देश का अधिकतर पुरुष वर्ग" एक कटु भाव एक कटु सत्य।धार्मिक और नास्तिक भाव और दिखावे का चित्रण भी लाजबाब है।बहुत उम्दा रचना
रिप्लाय
Suraj Prakash
अच्छी कहानी बधाई।
रिप्लाय
Sagar Bansal
प्रतिलिपि पर प्रकाशित की जाने वाली अति उत्तम कहानी
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.