सेक्स शादी और समझौते

अखिलेश प्रधान

सेक्स शादी और समझौते
(45)
पाठक संख्या − 2040
पढ़िए

सारांश

कोई अगर पूछे कि भारत के युवा पीढ़ी के सामने आज सबसे बड़ी समस्या क्या है तो मैं इन तीन शब्दों का नाम लेते हुए कहूंगा कि यही सबसे बड़ी समस्या है और यही सबसे बड़ी बीमारी भी है। असल में ये बीमारी थी नहीं लेकिन इसे कुछ इस तरीके से हमारे सामने परोस दिया गया है कि हम इससे आगे का कुछ सोच ही नहीं पा रहे। हमारी सोच इतनी संकुचित हो चुकी है कि हमारे लिए ये चुनिंदा विषय आज जीवन का अंतिम लक्ष्य तक बन चुके हैं, हम न इसके आगे का कुछ सोचना चाहते हैं न ही कुछ करना चाहते हैं। हम इन्हीं विषयों के इर्द-गिर्द चर्चा कर खुद को संतुष्ट करने में ही लगे रहते हैं।
Anu Saxena
correct
रिप्लाय
रीतू गुलाटी
ढीक कहा
रिप्लाय
Prashant Malakiya
true thing of society nice....
रिप्लाय
Shweta Soni
Aaj ke jmane ki hkikat h. Apne sahi likha h 👍
रिप्लाय
Rupali Shah
reality of the society.nyc story
रिप्लाय
Praveen Kumar Upadhyay
प्रधान जी बातें जो आपने लिखी है, सब सही है और आज के तारीख पर यही सब हो रहा है,,भौतिक वस्तुओं से विकाश करना ही विकाश हो चुका है, नैतिक मूल्य चरित्र इन सब शब्दो का अब कोई महत्व नही रह गया है।।।
रिप्लाय
Vikas Bansal
bahut acche
रिप्लाय
Vicky Singh
its amazing story.
रिप्लाय
Nand Kishor Nagora
क्या खूब लिखा है sir plz send me this story in text file... my email id is - nknagora12@gmail.com
रिप्लाय
Neha Thakur
very nyc
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.