सूर्योपासना की परंपरा का प्रमाण है तुर्कपट्टी का सूर्य मंदिर

केशव मोहन पाण्डेय

सूर्योपासना की परंपरा का प्रमाण है तुर्कपट्टी का सूर्य मंदिर
(37)
पाठक संख्या − 1704
पढ़िए

सारांश

सूर्य देव सभी प्राणियों के पोषक हैं। दिवा-रात्रि और ऋतु परिवर्तन के कारक हैं। विभिन्न व्याधियों के विनाशक हैं। वेदों में सूर्य को जगत की आत्मा कहा गया है। समस्त चराचर जगत की आत्मा सूर्य ही हैं। सूर्य ...
एकलव्य बिष्ट
बेहतरीन व्याख्यान।
कविता येड़े 'काव्या'
उत्कृष्ट ज्ञानपरक आलेख
Pradeep Mishra
अद्भुत प्रस्तुति एवं ज्ञानपरक, सरकार को अवश्य देखना चाहिए ताकि हमारी भारतीय संस्कृति की धरोहर को संजोकर रखा जा सके
Praveen Kumrawat
sarkar ko bhakto ki aastha ka dhyan rakhate hue mandir k liye kdm uthana chahiye... jai bhagwan sury ki🙏🙏🙏
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.