सुरीली

सरिता कुमारी

सुरीली
(69)
पाठक संख्या − 3561
पढ़िए

सारांश

सुरों की नन्हीं - नन्हीं, मीठी - मीठी, ऊँची - नीची लहरियाँ फिजाओं में तैर रहीं थीं। दस बरस की सुरीली अपने रियाज में तल्लीन थी। उसकी मीठी, सुरीली आवाज में डूबती - उतरती नेहा की आँखें नम हो गईं। आज ...
Sangita Ajmera
thanks bahut sundar bilkul sahi seekh degi story har maa k liye
Archana Goyal
Superb.... Today's reality
madhu agnihotri
बहुत खूबसूरत कहानी। आज कल बच्चों के ऊोर थोपी जा रही चमक दमज का सत्य उजागर करती कहानी। जो हम सभी को वो दिखा ोायी जिसे हम नहीं देख पाते टी वी पर ना जीत पाने पर उन रोते हुए बच्चों के दिल पर क्या बीत रही होती है। बहुत बहुत आभार कहानिकार हो।
Richa Goel
बहुत खूब ।
Mamta Upadhyay
अति सुंदर
रीतू गुलाटी
बहुत सुन्दर सुरीली।मेरी रचना भी पढे।
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.