सिद्धि का शगुन

नैनी ग्रोवर

सिद्धि का शगुन
(486)
पाठक संख्या − 62732
पढ़िए

सारांश

बहु तो बड़ी सुंदर ढूंढ के लाई हो शोभा..जब पड़ोसन ने कहा तो उसकी गर्दन गर्व से कुछ और लम्बी हो गई .. अरे एक ही तो बेटा है दिया है भगवान ने.. वंश तो इसी से चलेगा, लाखों में एक है मेरी बहु... पहले तो वो ...
Debashri guha
meri sans bhi mujhe bahut nicha dikhati hai.. ghar ke sabi log aisa hi karte hi ..
Rakhi Gautam
yhi sab mere sath bhi hua tha
Aashu Jain
Beautiful story... 👌 👌 👌
madhu agnihotri
सुंदर कहानी। छोटा बड़ा करने वालों के मुंह पर करार जवाब देती हुई कहानी। 👌👌👌
Manu Prabhakar
सूरत को जो ज्यादा तवज्जो देते हैं वो खुद की सीरत भी गँवा बैठते हैं ।
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.