सिक्सटी एंड सिंगल

कहानी Café

सिक्सटी एंड सिंगल
(256)
पाठक संख्या − 11711
पढ़िए

सारांश

कैरियर वाली उड़ान की एक ख़ास बात है...ये आपको ऐसा उड़ाती है कि एक समय के बाद थकान के बावजूद उड़ना आपकी मजबूरी बन जाती है...और तब आप ऊँचाई के लिए नहीं, सिर्फ आसमान में टिके रहने के लिए उड़ते हैं। पुनीत भी उसी उड़ान में उड़ रहा था...
Rajni Gupta
👌👌👌
रिप्लाय
Mamta Pattanaik
awesome .👌👌👌👌👌👌👌👌👌
रिप्लाय
sugandh yadav
Bahut acchi khani.
रिप्लाय
कविता चौधरी
ye सही h निशांत जी . आजकल k बच्चे parents ko भूल जाते hain
रिप्लाय
Sharda Rawat
very nice
रिप्लाय
Mamta Gupta
lovely story
रिप्लाय
JS Naphrary
Very nice story
रिप्लाय
कलमकार
समीक्षा से परे। सत्य
Ramesh Mistry
मौलिक, सुंदर और निष्पक्ष👌👍
रिप्लाय
Susheel Chaubey
बहुत सुंदर लिखा है
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.