सावित्री मैम

डॉ. सरला सिंह

सावित्री मैम
(77)
पाठक संख्या − 12966
पढ़िए

सारांश

संस्कृत की मैडम ने डाँटते हुए सीमा को उठाया ,"तुम्हें रुमाल कहाँ से मिली।" सीमा ने फिर वही उत्तर दिया, "मैम नीचे गिरा हुआ था मैनेरीता का समझ कर सम्भाल कर रख दिया औरजब वो आई तो मैने उसे दे दिया लेकिन ...
अनुश्री त्रिपाठी मिश्रा
होता है ऐसा भी, कुछ शिक्षिकाओं से दिल का रिश्ता सा बन जाता है।
दीप शिखा
सुंदर रचना
Yogesh Kanava
बहुत अच्छी है।
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.