सवालों के घेरे में

Damini

सवालों के घेरे में
(76)
पाठक संख्या − 925
पढ़िए

सारांश

सवालों के घेरे में कहते हैं हालातों से डर कर भागों नहीं उनका डटकर मुकाबला करो। ये कथन मेरे जीवन में किस तरह से उतरता है नहीं जानती हूँ। उपदेश देना बड़ी - बड़ी बातें करना बहुत आसान होता है। कौन किस ...
Sandhya Bhadoria
सुदर रचना एक लडकी के सघर्ष की पर रात के अधेरे की बजाय दिंन के उजाले मे माँ के साथ जाना ज्यादा सकारात्मक होता।
रिप्लाय
Aashu Jain
👏👏👏Bahut bdiya... Aise logo k sth aisa hi hona chahiye.. 👌
रिप्लाय
नैन राज
आज भी कई जगह लड़कियों को इन्हीं परेशानियों का सामना करना पड़ता है... पर समस्या का हल सबके पास नहीं होता..... या वो कोशिश नहीं कर पाती... प्रेरणादायक कहानी के लिए शुक्रिया... काश इस से सभी सबक लेंगी
रिप्लाय
Sonali Sinha
waah...aisa jazbaa sbme hona chahie
रिप्लाय
Mohit Shiro Dahiya
कहानी की नायिका ने बहुत उचित किया ऐसे लोगों के साथ ऐसा ही होना चाहिए था ।। एक अच्छी कहानी है
रिप्लाय
Poonam Aggarwal
बढ़िया कहानी है
रिप्लाय
Kalpana Chauhan
काबिले तारीफ़ !!
रिप्लाय
राघव
सही निर्णय नायिका का👌👌👍
रिप्लाय
Anuj Shrivastav
Bahut Sunder bahut achcha Kiya aapne Kahi Kahi Abhi bhi Aisa chal Raha hai aise logo ke sath Aisa karna chahiye kyu ki Sach to ye hai Maa Sabhi ke liye pyari Hoti hai Ham bhi aapki Baat se sahemat hai Aap Ko hamesh Bhagwaan khush Rakhe Bhagvaan aapki sabhi manokamna poorn kare Jai Siya Ram
रिप्लाय
Dhani Vyas
क्या लिखूं... बेटा और बेटी का फर्क क्या कभी खत्म हो गा.... ‌‌?
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.