समाज के भेड़िये

वेदिका ®

समाज के भेड़िये
(106)
पाठक संख्या − 14064
पढ़िए

सारांश

घर के बाहर अकेली खेल रही वंशिका को देख कर पड़ौस में रहने वाले सत्या ने मुस्कुरा कर पूछा " आज स्कूल नहीं गयी वंशी? वंशी ने भी चहकते हुए जवाब दिया "नहीं भैया, पता है आज बड़े बच्चे टूर पर गये हैं इसलिये ...
Monika Jadhav
aj kal kisi per bharosa nahi kar skte
Priya
एक बात बोलना चाहूंगी इस कहानी को पढ़ने के बाद की इस पर किसी भी समीक्षा की आवश्यकता नहीं है। अच्छा हुआ आप ने उसके रैप को ज्यादा describe नहीं किया वरना अच्छे लोगो की नींद हराम हो जाती।
Sachin Yadav
No Comments No Offence.
Devendra Kumar Mishra
इन हैवानों को भी कोई चॉकलेट की कीमत क्यो अदा नही करवा पाता।
Ravi Pandey
ese logo apno pat se bharosa utha dete h
Neelam Singh
ऐसे लोग मानसिक बीमार होते है
यजवीर सिंह विद्रोही
दरिंदगी की पराकाष्ठा
Noopur Awasthi
kutsit mansikta ko jahar krti kahani bhediye jangal chod aavran badal Sharon m aa base hn
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.