सपने निरर्थक नहीं बल्कि सच होते हैं

गिरिजा शंकर मिश्रा

सपने   निरर्थक नहीं बल्कि सच  होते हैं
(28)
पाठक संख्या − 1699
पढ़िए

सारांश

लोगों की हमेशा से यह जानने की अभिलाषा रही है कि सपने क्या सच होते हैं ? इस विषय में अनेक लोगों के कई विचार हैं कुछ लोग मानते हैं कि सपने सच होते हैं वहीं कुछ लोगों का मानना हैं कि सपनों का वास्तविकता ...
Paakhi Jain
सपनेसत्य होते हैं ।और वो आगत भविष्य से आपक साक्षात्कार कराते हैं।पर हम इस विधा से अनभिज्ञहैं अतः तत्काल नहीं समझ पाते।
S P Singh
धन्यवाद, ऐसी संवेदनशील कहानियों के लिए। कृपया लिखते हुए सामाजिक न्याय में योगदान करते रहे।
रविन्द्र
कह नहीं सकता क्या सच है क्या झूठ पर सपने मनोदशा को व्यक्त करते हैं।जब आप बीमार हो या चिंतित तो ज्यादा सपने आते है।ये सपने होते है या मस्तिष्क के बिचारो के झंझावात कहना मुश्किल है।
prabhakar
hum to yeh bhi pata kr lete hai ki kya hone wala hai sapno se
रिप्लाय
Abadhesh Mathur
सपने वाकई में सच होते हैं लेकिन सपने देखे गए हो खुली आँखों से 💯💯💯😍😍😍👌👌👌👌
रिप्लाय
Avni Kaushik
Muje b bhut spne aate h aur muje spne dekhna bhut psand h. Muje yaad b rhte h but kabhi ase sach nhi hue... Aur mne pdha h ki spne bhut trh k hote h. jse kuch spne bar bar aate h. muje bhut bar dikhta h ki mere dant tut gye h. kya uska koi mtlb h? M yhi khna chahungi ki ho skta h spno ka mtlb ho pr sach hone wale spne sbko nhi aate. sayd ap luckey ho jo apko aate h.
रिप्लाय
Ravi Rajput
achi kahani nahi hai. ...bakwas
रिप्लाय
Agyanand Tiwari
ytharth styyy h sir
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.