सत्यान्वेषी – एक रहस्यमयी सफर पार्ट 4

सीखो फाउंडेशन

सत्यान्वेषी – एक रहस्यमयी सफर पार्ट 4
(149)
पाठक संख्या − 2293
पढ़िए

सारांश

यह कहानी है विरुद्ध सत्यान्वेषी की और उसके दोस्त कुणाल चतुर्वेदी की जो कि एक पेरानॉर्मल एक्सपर्ट है। बचपन से ही विरुद्ध भूतों और आत्माओं की दुनिया को देख सकता था। साथ ही साथ वह उनसे बाते भी कर सकता था। विरुद्ध का जीवन संघर्षरत रहा लेकिन बाद मै विरुद्ध एक डिटेक्टिव का काम चुनता है इसी बीच विरुद्ध एक ऐसे केस से जुड़ता है जिससे वह एक पेरानॉर्मल डिटेक्टिव बन जाता है। यह कहानी एक ऐसे केस से जुड़ी है जो कि आत्माओं की दुनिया की सच्चाई को दिखाती है
Tullsiram Jaiswal
बहुत सुंदर रचना है धन्यवाद आपका आपकी मेरा ड्रेगन ब्वाय फ्रेंड दोनों जगहों पर नहीं है कॄपया पूरी कहानी एक बार फिर से कहीं भी डालें पढ़ना है आगे भी ऐसी रचनाएं पढ़ने के लिए मिलेगी इसी आशा के साथ ़धन्यवाद
रिप्लाय
Anand Jha
क्या लिखूं मै काफी समय बाद किसी स्टोरी को बिना पढ़े आगे समझ ही नहीं पा रहा हूँ बहुत ही Gr8 you r genius
रिप्लाय
Rishabh Shukla
behtreen
रिप्लाय
Yesh Rathore
nice
रिप्लाय
Shalini Singh
suspense bad raha hai
रिप्लाय
Lajj Tanwani
sach me bhot badhiya. virudh se me pucha chahgi ki aap me aesi kon s8 sacchai ki takat he jo aap ko aage ka dikhate he koi to ruh aap ke sath hogi??? ninja aap ne aacha kiya hoga . kher story aachi ja rhi he..
रिप्लाय
Ravi Kashyap Rajandar Kashysp
bahut bahut badiya
रिप्लाय
Priyanka Sharma
superb
रिप्लाय
Neha Mehendiratta
good
रिप्लाय
Romir Agrawal
kab hogi complete story
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.