सत्यान्वेषी – एक रहस्यमयी सफर पार्ट 2

सीखो फाउंडेशन

सत्यान्वेषी – एक रहस्यमयी सफर पार्ट 2
(185)
पाठक संख्या − 1557
पढ़िए

सारांश

लेखक पवन सिंह सिकरवार का जन्म उनके ननिहाल उत्तर प्रदेश में इटावा जिले के कटघरा नामक गाँव मे हुआ था। यह एक स्वंतत्र लेखक है जिन्होंने अब तक चार उपन्यास, सात लघु कथाएँ, बारह कविताएं और दो नाटकों के साथ अपना लेखन कार्य किया है। यह एक समाज सुधारक भी है इन्होंने नव युवकों के लिए सीखो फाउंडेशन निर्माण किया जो गरीब बच्चों और नव लेखकों को मंच प्रदान करने का काम करता है। पवन सिंह का बचपन ना ही किसी साहित्यक परिवेश में गुजरा है और ना उनके परिवार से कोई लेखन कार्य से जुड़ा हुआ है
Dimple Badesha
bahut sunder
रिप्लाय
Suraj Kumar
story us awesome
रिप्लाय
Anamika Shrivastav
adbhut
रिप्लाय
game planner
aapki kahaniya achi lagti h lekin sb adhoore rakhe jate h
रिप्लाय
Alok Tiwari
badiya
रिप्लाय
Rishabh Shukla
nice
रिप्लाय
Shalini Singh
interesting
रिप्लाय
Ankit Singh
best story sir
रिप्लाय
Ram
Ram
superb.... viruddh babu ne to kamaal hi kar diya dhamakedar entry k saath gauri ko bacha liya
रिप्लाय
Preeti Karn
बहुत ही अच्छी कहानी है
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.