सकून

Sanjukta Pandey

सकून
(4)
पाठक संख्या − 26
पढ़िए

सारांश

चौराहे पर भागती जिन्दगी...और... हम खोजते रहतें हैं..... सकून सकून......कितना प्यारा शब्द है न...।। लेकिन कहाँ मिल पाता ....हमें सकून न बचपन में सकून..... न युवा मे सकून.... और इस सकून के पीछे भागते ...
सौरभ शर्मा
वाह...👌
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.