शूल भाग १

Manisha Raghav

शूल भाग १
(9)
पाठक संख्या − 380
पढ़िए

सारांश

शूल   part 1 अदालत में सुई पटक सन्नाटा छाया हुआ था । बस दीवार पर टंगी घड़ी सूइयों  की  टिक टिक सन्नाटे को तोड़ रही थी । जज साहब सिर झुकाए फैसला लिखने में व्यस्त थे ...
Manoj KSR
👌👏👏👏👏👏Superb
M.A. Khan
सुन्दर
Sunil Shukla
बहुत खूब
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.