शिमला के बहाने से : कुछ पुराने दर्द

मणिका मोहिनी

शिमला के बहाने से : कुछ पुराने  दर्द
(45)
पाठक संख्या − 2126
पढ़िए

सारांश

शिमला अब वह शिमला नहीं रहा. शहर के मुकाबले 28*C कूल होगा लेकिन हम अपने शहर में, अपने घर में जितने ठंडे मौसम में रहते हैं, उतना ठंडा मौसम इन दिनों शिमला में नहीं है. और भीड़ … गज़ब की भई. माल रोड पर ...
seven
👍👍👍👍👍👍
ऋषिराज
😑 samvedansheel rachna..
निजा
खूबसूरत जज्बातों से भरी लिखाई. लिखते रहिएगा.
Dinesh Mishra
औसत लेखन। यद्यपि भावना प्रधान एवं माता पुत्र का विषय स्वयं ही मर्मस्पर्शी होता है। कहानी में माँ द्वारा बच्चे को अपनी सामर्थ्य से अधिक के स्कूल में दाखिला कराना त्याग समझाया गया, माँ का निम्नस्तरीय स्वार्थ।
Sanjay Panday
वर्तमान युग की यथार्थ कहानी
निम्मी सिंह
बहुत ही खूबसूरति से आपने अपने दिल की बात कही
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.