शिकायत

Sangeeta Raturi

शिकायत
(5)
पाठक संख्या − 45
पढ़िए

सारांश

सुनो एक शिकायत है तुमसे, बोलूंगी तो क्या मानोगे  उसे। जब जाना ही था जिंदगी से तो, सपना बनकर आए ही क्यों थे।। वीरान सी थी जो जिंदगी उसमें, खुशी की बहार लाए ही क्यों थे चाहतों का जो सिलसिला सा था, हमने ...
Ravindra Narayan Pahalwan
शिकायत तो बनती है / मुझे भी एक शिकायत है, इतना अच्छा लिखते क्यों हो ? एक तकलीफ़ करना मेरी शिकायत बनी रहना चाहिए...
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.