शब्द बाण

विनोद महर्षि

शब्द बाण
(59)
पाठक संख्या − 2201
पढ़िए

सारांश

कड़वे शब्द भी हमे प्रेरित करते है, बस जरूरत है तो मन की सक्ति को जगाने की और समझने की
Akanksha Dikshit
वाह बधाई बहुत सुन्दर
Monisa Siddiqui
बहुत बढ़िया लिखा है।
rishabh shri
बहुत बढ़िया!!👌👍
Sita Aryal
kahani achhi hai. har chij aur har baatko positively le kar aage badhne se life me success milegi hi.
अरविन्द सिन्हा
अत्यन्त ही प्रेरक कहानी । शुभकामनाएं ।
रिप्लाय
Kalpana Chauhan
bht bdhiya
रिप्लाय
Aruna Anand
बेहतरीन रचना. लेखन शैली प्रभावशाली और कहानी प्रेरणादायक !
रिप्लाय
Neha Chauhan
mjhe bhi ek sal pehle kisi n kch kha tha ....us wqt bht gussa aaya ....or socha ki ab to us insan s pehle kamyab hokar dikhana h...wqt k sath kch dhundla pd gya tha...but ab nhi pdega....apne lakshay ko pane m m Puri mehnat krungi
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.