शक्ति

ऋचा तिवारी

शक्ति
(242)
पाठक संख्या − 13189
पढ़िए

सारांश

सारिका का घर से जाने का दिल नहीं कर रह था जाने क्यों वो बारबार अपनी माँ से कह रही थी"माँ आज कुछ अच्छा नहीं लग रहा"माँ न कहा"तो आज मत जा कॉलेज" दिल तो नहीं पर जाना ही होगा माँ सारिका ने माँ से कहा और ...
rashmi sinha
Kash har larki aesi ho jaye
deepak jaiswal
bahot sundar rachna hai
रविन्द्र
🍓🌿🌿🍁🍁बहुत सूंदर रचना🌿🌿🌿🌿🙏🙏🙏🙏
Rajkumari Mansukhani
kash her lafki Aisa jar paye v good message
Bhagirathi Rawat
अति उत्तम
Rakesh Kumar Sharma
ये कहानी है। पर हकीकत भी। आज हर बेटी बहन को शक्तिशाली बनना होगा। यही तो है या देवी सर्वभूतेषु शक्तिरूपेण । राकेश शर्मा पत्रकार दैनिक भास्कर 9929034297
रिप्लाय
PriYanKa Pankhi
स्त्री शक्ति👍👌💐
Barkha Verma
Y huyi na bat, good story
Yogendra Singh
कथा तो अच्छी है, कथा की नायिका ने जो किया वह यथार्थ में नामुमकिन तो नहीं परन्तु 'नामुमकिन' से कम भी नहीं। अच्छे लेखन के लिए बधाई।
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.