वो सात दिन

Pinky Khurana

वो सात दिन
(326)
पाठक संख्या − 38076
पढ़िए

सारांश

प्रेम कुछ नहीं देखता,ना रंग ना रूप, प्रेम सिर्फ प्रेम होता है
Prem Kumar Beniwal
हृदयस्पर्श करनेवाली कहानी
रिप्लाय
prabha singh
heart touching story
रिप्लाय
anshita chaturvedi
मर्मस्पर्सी कहानी आज भी मेरे जीबन में दो लडकियां एसी आईं जिनमें कोई कमी न होते हुए भी कमी बाले लडको से प्या की खातिर शादी की सुखी हैं खुश है लडको की कमियां दुर्घंटना से हुईं ए
रिप्लाय
Seeta Markam
v. nice
रिप्लाय
Mithun Jain
such a Pyar Ko darshati ek bahut hi Sundar Rachna
रिप्लाय
Anu Singhal
Beautiful storey
रिप्लाय
Reena Parihar
दिल छू लिया
रिप्लाय
Shipratinki Sah
very nice. superb jitni tarife kre kam h
रिप्लाय
Soniya Sharma
Nice story
रिप्लाय
Shanti Dihiye
achhi lagi, aaj bhi hai yese log 💐💐💐👌👌
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.