वो बेवफा थी या नहीं

डॉ. मनीष गुप्ता

वो बेवफा थी या नहीं
(95)
पाठक संख्या − 13060
पढ़िए

सारांश

प्यार में कोई शर्तें नहीं होतीं पर आप कम से कम एक बार अपनी बात तो बोल सकते हो अगर ऐसा नहीं कर सकते तो किसी की जिंदगी में आने का मतलब क्या है / आप ने उस समय अपने आपको सबकी नजरों में अच्छा साबित करने के लिए झूठ बोल दिया पर दूसरा अपनों की नजरों में नीचा साबित हो गया उसका क्या /शादी होना मायने नहीं रखता पर कम से कम एक बार सच तो बोलना चाहिए था / ऐसी कुछ बातें बताती ये कहानी /
ऋचा तिवारी
यह कहानी आप की अच्छी कहानियों में से एक है डॉ.मनीष.
रिप्लाय
संजीव जायसवाल ' संजय '
सशक्त कहानी । प्रस्तुतिकरण अत्यंत सजीव है। आपकी लेखनी को कोटि कोटि शुभकामनाएं।
रिप्लाय
Preeti Wadhwa
time pass kr gyi bndi...completely bewafa thi..jb vo kh rhi thi shadi vhi krungi jha parents krenge to kyu jhak mar rha tha uske piche..
रिप्लाय
shikha Gupta
bahut hi jyada touching story h, bt ye n hona chahiye tha agr mai us ldki ki friend hoti to puri jaan lga deti dono ko milane me aage jo hota dekha jata kyuki aise jo aage hua wo acha n hua. bahut achi thi sir.
रिप्लाय
Kirti Mishra
aisa grla hi ni boys b krte h phle pyr karenhe fr. yr mumy kbi ni mnegi nd family ke khilaf jkr kuch kam ni krunga,mai chahe apna pyr hi kyu na chod du. sari khushiya,hi kyu na dfn kr du.
रिप्लाय
JK Jaya
लडका हो या लडकी !! अगर प्यार को मजबूरी से तोडो तो उसें अपने प्यार का विश्वास तो दिला दों। ताकी वॊह चैन की सास ले और अपने आप को संभाले। अगर टाइम पास हैं तो प्यार का नाम मत दो । ओन्ली फ्रेंडशिप ।।।
रिप्लाय
Neha Kannojiya
sabki majburiya hoti hai ..khaas ker iss samaj mein ladkiyon ke saath jaida majburi yan hai
रिप्लाय
saurabh pandey
bkwsssss. ek star bhi nhi dena chaiyhe
रिप्लाय
Ruby Choora
Heart Touching Story
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.