वैलेंटाइन डे

योगेश मैहरा

वैलेंटाइन डे
(151)
पाठक संख्या − 8388
पढ़िए

सारांश

मै अपने स्नातक के दूसरे साल में बीकानेर के इंजीनिरिंग कॉलेज में अध्यन कर रह था , एक दिन कमरे पर बैठा अपने व्हाट्सएप्प कॉन्टेक्ट देख रहा था | जब मोबाइल बंद करने ही वाला था तभी मेरी नज़र एक नंबर पर पड़ी ...
Ayush Tiwari
कभी किसी को मुकम्मल जहाँ नहीं मिलता कहीं ज़मीन तो कहीं आसमान नहीं मिलता । सच्ची श्र्धांजलि
रिप्लाय
Renu Vijh
खूबसूरत अभिव्यक्ति
प्रियंका कुमारी
bahut acha likha he apne bus rula hi diya aj 😢
रिप्लाय
Neha Neha
heart touching story
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.