//विश्व विनाशक ये इंसान//

Pratik Awasthi ( Advocate)

//विश्व विनाशक ये इंसान//
(3)
पाठक संख्या − 78
पढ़िए

सारांश

ईश्वर ने पृथ्वी को समस्त संन्दरता से भरा तथा वहां रहने के लिए लगभग चौरासी करोड जीव जंतु को बनाया बस एक गलती ईश्वर ने भी कर दी इंसान बनाकर,इंसान की रचना ईश्वर ने यह सोचकर की होगी कि ये सभी जीव जंन्तुओ ...
Asha Shukla
very nice and fantastic creation 🌹🌹🌹🌹
रिप्लाय
Mohit singh bhadoriya
👌👌👍👍अच्छा लिखा है,,,हम शहमत हैं, इंसान ने कभी अपनी जिम्मेदारी को समझा ही नहीं, बस सुविधाभोगी जीवन ही जी रहा, चाहे नदियां मैली हो जाए शहरों के गटर के मिलने से,,प्लास्टिक के कचरे के बड़े बड़े ढेर लग रहे, शहरों के किनारे,,,,,,,,,,आपकी रचना ने मन को छुआ,,जय माता दी, आपका भविष्य मंगलमयी हो,,जय माता दी,
रिप्लाय
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.