//विश्व विनाशक ये इंसान//

प्रतीक अवस्थी "समीर"!!अधिवक्ता!!लेखक!!

//विश्व विनाशक ये इंसान//
(31)
पाठक संख्या − 409
पढ़िए

सारांश

ईश्वर ने पृथ्वी को समस्त सुंन्दरता से भरा तथा वहां रहने के लिए लगभग चौरासी करोड जीव जंतु को बनाया बस एक ही गलती ईश्वर ने भी कर दी इंसान बनाकर,इंसान की रचना ईश्वर ने यह सोचकर की होगी कि ये सभी जीव ...
Meenakshi bhardwaj
जी बहुत अच्छा लेख,,,👌👌 बना के तो ईश्वर ने बहुत अच्छा किया पर हम इंसानो ने ही उसके द्वारा बनाई प्रक्रृति की रक्षा नहीं की,,जैसे कोई पिता अपने बेटे को कोई गिफ्ट लाकर देता है तो कितनी खुशी होती है जो हमेशा उसको संजो के रखता है,, उसी तरह हम सभी को मिल कर ईश्वर द्वारा दिए गए उपहारों की (प्रकृति,,पेड़ पोधे,,जीव जन्तु,आदि)को संजोए रखने के प्रयास करने चाहिए।।🙏जय जय श्री कृष्णा
दुर्गा प्रसाद
जी , प्रदीप जी यह बात सत्य है । इंसान ही है जिसने कभी अपनी जिम्मेदारी नहीं ली। दूसरों में अवगुण ही तलाशने में जोर दिया।👌👌👌👌👌👌👌
Sagar Awasthi
बिलकुल सहमत
प्रदीप तिवारी
उत्तम्
रिप्लाय
Chourasiya brajesh
बेहतरीन लेख आपका..
रिप्लाय
Sushil Kumar
You a chose a very nice and important topic ...👌👌🙏🙏Save Environment
रिप्लाय
Mithi Tripathi
बहुत अच्छा है
रिप्लाय
Bala
👌👌👌👌👌👌👌👌
रिप्लाय
Vadilal Panchal
good
रिप्लाय
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.