विश्वास की साँस

चंद्रमौली पाण्डेय

विश्वास की साँस
(247)
पाठक संख्या − 7279
पढ़िए

सारांश

33000 हजार फ़ीट की ऊँचाई ..अरब महासागर के ऊपर ,बादलों को चीरता हुआ वायुयान ,बाहर हवा मे हो रही अशांति के कारण हिलता-डुलता ...अपने लक्ष्य की ओर बढ़ता जा रहा था.. ये हिचकोले ..वायुयान के पिछले हिस्से मे ...
अरविन्द सिन्हा
अत्यन्त ही हृदयस्पर्शी सुन्दर कहानी ।
Aruna Garg
me to rone lagi ye padker.ese pal ishwer ki den hote he.wahi hame takat deta he .
Rajkumari Mansukhani
sach hai bache bhi parents se bahut pyar karte hai sur ger achievement ka sara shrey parents ko dete hsi nice story
Somesh Ârmo
👌👌👌👌👌
Manisha Mittal
Bahut hi खूबसूरत, मर्मस्पर्शी
Mithlesh Shrivastava
अच्छी कहानी है मै इतना इनवाल्व होगया।
chirag
बहुत सुन्दर मार्मिक रचना
सारी टिप्पणियाँ देखें
hindi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया पर हमें फॉलो करें।
     

हमारे बारे में
हमारे साथ काम करें
गोपनीयता नीति
सेवा की शर्तें
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.